कॉरपोरेट > कॉरपोरेट सामाजिक दायित्व

मीडिया कॉर्नर > प्रेस रिलीज़

जवाहर नवोदय विद्यालय, पटना में हुआ ‘सैमसंग स्मार्ट स्कूल’ का उद्घाटन; छात्रों और शिक्षकों की एडवांस डिजिटल लर्निंग पर होगा फोकस

on 17-05-2022

कार्यक्रम के तहत, सैमसंग ने जेएनवी पटना में दो स्मार्ट क्लासरूम स्थापित किए हैं 

प्रत्येक क्लासरूम में 85 इंच और 55 इंच का सैमसंग फ्लिप इंटरैक्टिव डिजिटल बोर्ड, छात्रों के लिए 40 सैमसंग गैलेक्सी टैब, एक प्रिंटर, एक सर्वर पीसी, एक टैबलेट चार्जिंग स्टेशन और पावर बैकअप उपलब्ध होगा।

 

भारत के सबसे प्रशंसित ब्रांड सैमसंग ने आज पटना के जवाहर नवोदय विद्यालय (जेएनवी) स्कूल में अपने फ्लैगशिप ग्लोबल सिटिजनशिप प्रोग्राम सैमसंग स्मार्ट स्कूल का उद्घाटन किया। यह स्मार्ट स्कूल छात्रों को डिजिटल लर्निंग के मौके प्रदान करता है, इसके साथ ही उनकी सीखने की क्षमताओं को बेहतर बनाने में मदद करता है। सैमसंग स्कूल के शिक्षकों के इंटरैक्टिव टीचिंग मैथड को और बेहतर बनाने के लिए उन्हें प्रशिक्षण भी दे रहा है।

 

सैमसंग स्मार्ट स्कूल का उद्देश्य सैमसंग के टुगेदर फॉर टुमॉरो! इनेबलिंग पीपलविजन के तहत भारत में मूलभूत सुविधाओं से दूर रहे छात्रों को डिजिटल शिक्षा और परिवर्तन लाने वाले अपने स्वयं के इनोवेशन का लाभ पहुंचाना है, जिससे देश में कल के युवा लीडर्स तैयार हो सकें।

 

इस कार्यक्रम के तहत, जेएनवी पटना के छात्र सैमसंग द्वारा स्कूल में स्थापित दो स्मार्ट कक्षाओं में आधुनिक डिजिटल लर्निंग इंफ्रास्ट्रक्चर का अनुभव प्राप्त करेंगे।

 

इन कक्षाओं में, पारंपरिक ब्लैकबोर्ड की जगह 85 इंच का सैमसंग फ्लिप इंटरैक्टिव डिजिटल बोर्ड प्रदान किया गया है। इससे छात्रों को सीखने का अधिक रोमांचक और मजेदार माहौल मिलता है। छात्र लेक्चर, क्विज़, क्लासवर्क और प्रोजेक्ट वर्क में भाग लेने के लिए दूसरे सैमसंग फ्लिप (55-इंच) और सेल्फ स्टडी के लिए प्रत्येक कक्षा में 40 सैमसंग गैलेक्सी टैब का उपयोग कर सकते हैं। इसके अलावा, कक्षाओं में एक प्रिंटर, एक सर्वर पीसी, एक टैबलेट चार्जिंग स्टेशन और पावर बैकअप भी है।

 

जेएनवी पटना के छात्रों के साथ आयोजित एक कार्यक्रम में पटना के जिला मजिस्ट्रेट डॉ चंद्रशेखर सिंह, श्री पार्थ घोष, उपाध्यक्ष, कॉर्पोरेट सिटिजनशिप, सैमसंग इंडिया और श्री जितेंद्र कुमार, प्रिंसिपल, जवाहर नवोदय विद्यालय, पटना द्वारा नए सैमसंग स्मार्ट स्कूल का उद्घाटन किया गया।

 

जवाहर नवोदय विद्यालय, पटना के प्रिंसिपल जितेंद्र कुमार ने कहा, “हमें खुशी है कि जेएनवी पटना सैमसंग स्मार्ट स्कूल कार्यक्रम का हिस्सा है, जो यहां के छात्रों को डिजिटल शिक्षा प्रदान कर रहा है। छात्र सैमसंग स्मार्ट स्कूल का उपयोग करने के लिए बेहद उत्साहित हैं और हम उनकी सीखने की क्षमताओं में सुधार होता देख रहे हैं। इसके साथ ही शिक्षक प्रशिक्षण मॉड्यूल जो कि इसी कार्यक्रम का एक अहम हिस्सा है, वह शिक्षकों को आसान विजुअल तरीके से जटिल विषयों को समझाने में भी मदद कर रहा है। यह पहल निश्चित रूप से डिजिटल डिवाइड को पाटने में मदद करेगी।”

 

जेएनवी पटना का ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर के माध्यम से छात्रों के बीच आईटी साक्षरता को बढ़ावा देने पर खास तौर पर फोकस कर रहा है। इसी के साथ ही एनसीईआरटी से मान्यता प्राप्त माइंड मैपिंग की इनोवेटिव अप्रोच पर भी काम कर रहा है। 

 

[L-R] पार्थ घोष, उपाध्यक्ष, कॉर्पोरेट सिटिजनशिप, सैमसंग इंडिया, पटना के जिला मजिस्ट्रेट डॉ चंद्रशेखर सिंह, श्री और श्री जितेंद्र कुमार, प्रिंसिपल, जवाहर नवोदय विद्यालय

श्री पार्था घोष, वाइस प्रेसिडेंट, कॉर्पोरेट सिटीजनशिप, सैमसंग इंडिया ने कहा, “हमारी ग्लोबल सिटीजनशिप पहल सैमसंग स्मार्ट स्कूल भारत के विकास एजेंडे के साथ गहराई से जुड़ा हुआ है और हम सरकार के साथ मिलकर इसे लागू कर रहे हैं ताकि देश भर में मूलभूत सुविधाओं से दूर रहे छात्रों को डिजिटल शिक्षा के लाभ मिल सकें। जेएनवी पटना में सैमसंग स्मार्ट स्कूल छात्रों को डिजिटल लर्निंग से लैस करेगा और डिजिटल इंफ्रास्ट्रक्चर का उपयोग करने के लिए शिक्षकों की क्षमता को बढ़ाएगा। यह प्रोग्राम #PoweringDigitalIndia के हमारे विजन के प्रति हमारी प्रतिबद्धता को और मजबूती प्रदान करता है।”

 

सैमसंग स्मार्ट स्कूल का लक्ष्य छात्रों की सीखने की क्षमता में सुधार करना है। इसी के साथ ही इंटरैक्टिव डिजिटल ​टीचिंग मैथड, जिस पर शिक्षकों को खास तौर पर प्रशिक्षित किया गया है, इसके माध्यम से कक्षाओं में बेहद जरूरी कॉन्सेप्ट को लेकर छात्रों की समझ में सुधार करना है।

 

सैमसंग स्मार्ट स्कूल कार्यक्रम को इसके पहले साल में 10 जेएनवी स्कूलों में संचालित किया जा रहा है। जेएनवी पटना के अलावा ग्वालियर, रायपुर, उदयपुर, कांगड़ा, संभलपुर, फरीदाबाद, देहरादून, वाराणसी और धनबाद के जेएनवी स्कूलों में सैमसंग स्मार्ट स्कूल स्थापित किए गए हैं।  इनमें से कई स्कूल इन शहरों के आसपास के सुदूर ग्रामीण जिलों में स्थित हैं। पायलट प्रोजेक्ट में 5,000 से अधिक छात्र शामिल होंगे, जिनमें से 40% लड़कियां हैं। साथ ही लगभग 260 शिक्षक प्रशिक्षण प्राप्त करेंगे। इनमें से करीब 400 छात्र जेएनवी पटना के हैं।

 

 

इंफ्रास्ट्रक्चर उपलब्ध कराने के अलावा, सैमसंग स्मार्ट स्कूल इन स्कूलों में छात्रों के लिए टीचर्स ट्रेनिंग, सार्थक और आवश्यक शैक्षिक सामग्री प्रदान करने और इन स्कूलों को इंटरैक्टिव और सहभागी शिक्षण के समाधान उपलब्ध कराते हुए छात्रों को डिजिटल लर्निंग में मदद कर रहा है। सैमसंग ने सीबीएसई पाठ्यक्रम के अनुसार ग्रेड 6 से 12 तक की सभी कक्षाओं के लिए डिजिटल सामग्री उपलब्ध कराई है, ताकि शिक्षक इन कक्षाओं का अधिक प्रभावी ढंग से उपयोग कर सकें और परस्पर संवाद तथा गहराई से समझने की प्रक्रिया के साथ छात्रों की सीखने की क्षमता और भी बेहतर हो सके।

 

सैमसंग के ग्लोबल सिटिजनशिप विजन टुगेदर फॉर टुमॉरो! इनेबलिंग पीपलके तहत, सैमसंग अगली पीढ़ी को अपनी पूरी क्षमता के साथ विकास करने और सकारात्मक सामाजिक बदलाव लाने के लिए उन्हें सशक्त बनाना चाहता है। सैमसंग अपनी सिटिजनशिप पहल के माध्यम से समाज में सकारात्मक बदलाव लाने और लोगों का जीवन बेहतर बनाने के लिए इनोवेशन का उपयोग करने में विश्वास करता है।

 

सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स विश्व स्तर पर तीन सिटिजनशिप प्रोग्राम चलाता है – सैमसंग स्मार्ट स्कूल, सैमसंग इनोवेशन कैंपस और सॉल्व फॉर टुमॉरो – जिसके माध्यम से यह भविष्य के लीडर्स को तैयार रहा है और उन्हें उन उपकरणों से लैस कर रहा है जिनकी सार्थक बदलाव लाने में उन्हें जरूरत होगी।

 

 

 

ग्राहक सेवा से संबंधित शिकायतों के लिए, samsung.com/in/support पर जाएं।
मीडिया से जुड़ी जानकारी के लिए, कृपया संपर्क करें corpcommindia@samsung.com

Sitemap

Top