प्रोडक्ट्स > मोबाइल फोन

गैलेक्सी नोट8 का डुअल कैमरा है ज़बरदस्त, ऐसे लेता है शानदार पिक्चर्स…

on 27-10-2017
शेयर

 

 

सैमसंग ने एक बार फिर गैलेक्सी नोट8 के साथ स्मार्टफोन कैमरा की दुनिया में हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर के मामले में नए मानक तय कर दिए हैं। गैलेक्सी नोट8 ऐसा पहला स्मार्टफोन है जिसमें दो 12 मेगापिक्सल के रियर कैमरे हैं और दोनों लेंस, वाइड एंगल और टेलीफोटो लेंस ऑप्टिकल इमेज स्टेबिलाइज़ेशन (OIS) के साथ आते हैं।

 

 

2 एक्स ऑप्टिकल और लगभग 10 एक्स डिजिटल ज़ूमिंग क्षमताओं के साथ, फोटो एक दम शार्प और क्लियर आती हैं, फिर चाहे वो दूर से खींची गई हों या फिर कम रोशनी में। इसके अलावा, नया लाइव फोकस और डुअल कैप्चर फीचर फोटो को और क्रिएटिव तरीके से कंट्रोल करने का मौका देता है।

 

 

डुअल कैमरा- क्या है और कैसे फायदेमंद है ?

 

जैसा की नाम कहता है, डुअल कैमरा दो अलग-अलग कैमरा से बना है और इन कैमरा के संबंधिक इमेज सेंसर्स एक दूसरे के साथ मिलकर काम करते हैं।

 

 

आम तौर पर, एक कैमरा साधारण कैमरे की तरह ही काम करता है, रंगीन तस्वीरों को उसी तरह से कैप्चर करता है जैसे कोई आम स्मार्टफोन करता हो। वहीं दूसरे कैमरे का काम है फोटो में वो सब कैप्चर करना जो प्राइमरी सेंसर नहीं करता। जब कोई यूज़र फोटो लेता है, तो कैमरा दो छवियों को कैप्चर करता है। इन्हीं दोनों छवियों के संयोजन से साफ और ज़्यादा डेप्थ ऑफ फील्ड वाली हाई क्वालिटी फोटो निकल कर सामने आती है।

 

 

 

 

तो गैलेक्सी नोट8 का डुअल कैमरा, फोन के रियर वाइड-एंगल लेंस और टेलीफोटो लेंस का एक साथ इस्तेमाल करके बेहतर तस्वीर बनाने का काम करता है।

 

 

ज़ूम कैसे करता है काम?

 

2 एक्स ऑप्टिकल और 10 एक्स डिजिटल ज़ूमिंग क्षमताओं के साथ, गैलेक्सी नोट8 का डुअल कैमरा बेहद ही क्लियर और हाई क्वालिटी क्लोज़ अप्स लेता है।

 

 

 

 

ऐसा इसलिए क्योंकि इसका टेलीफोटो लेंस कैमरा के ऑप्टिक्स का इस्तेमाल करता है, या फिर ऑप्टिकल ज़ूम का, ताकि सब्जेक्ट बिना बड़ा किए, जैसा डिजिटल ज़ूम में किया जाता है, पास नज़र आए। ऐसा करने से, ऑप्टिकल ज़ूम क्वालिटी खोए बिना बेहद ही प्रोफेशनल दिखने वाली फोटो तैयार करता है, सब्जेट कितना भी दूर क्यों न हो। जैसे की, एक कॉन्सर्ट के दौरान बैंड की फोटो लेते वक्त, यूज़र गैलेक्सी नोट8 के कैमरा के इस्तेमाल से स्टेज को पास से देखने के लिए ज़ूम इन कर सकते हैं।

 

 

फोटो जो होती हैं  हटके !

 

ज़ूम करने की क्षमताओं के अलावा, डुअल कैमरा अपने डुअल पिक्सल टेक्नोलॉजी वाले F1.7 के वाइड-एंगल लेंस और F2.4 के टेलीफोटो लेंस के साथ, यूज़र द्वारा फोकस किए गए सब्जेट को तुरंत ध्यान में लेते हुए, शार्प और ब्राइट शॉट लेने में सक्षम हो पाता है, फिर चाहे रोशनी कम क्यों न हो।

 

इसके अलावा, डुअल ओआईएस के साथ, यूज़र को सभी तरह के वातावरण में शार्प, फोकस वाली फोटो मिलती है, भले ही वो कांपते हुए हाथ से शूट कर रहे हों।

 

साथ ही गैलेक्सी नोट8 के नए कैमरा फीचर्स यूज़र्स को यूनीक फोटो खींचने का नया अवसर देते हैं जिनसे फोटो थोड़ी हटके आती हैं।

 

उदाहरण के तौर पर, लाइव फोकस के साथ, यूज़र्स बोकेह इफेक्ट को एडजस्ट कर सकते हैं, ताकि फोटो का डेप्थ ऑफ फील्ड बदला जा सके। यूज़र्स पूरे ब्लर इफेक्ट की इंटेन्सिटी कंट्रोल कर सकते है, जिसे फोटो खींचने से पहले प्रिव्यू मोड में देखा जा सकता है या फिर फोटो खींचने के बाद गैलरी ऐप में।

 

 

 

 

वैसे ज़्यादातर यूज़र्स फोटो खींचते वक्त अपने सब्जेट को फोकस में लाने के लिए बैकग्राउंड को ब्लर कर देते हैं लेकिन कभी-कभी बैकग्राउंड भी ज़रूरी होता है, जैसे किसी फेमस जगह के सामने तस्वीर लेते हुए। डुअल कैप्चर मोड में, फोन के दोनों रियर वाइड एंगल और टेलीफोटो लेंस दो अलग फोटो लेने के लिए एक साथ काम करते हैं। यूज़र्स इसके बाद दोनों फोटो— ज़ूम्ड-इन और वाइड-एंगल शॉट्स को गैलरी में जाकर देख सकते हैं।

 

 

गैलेक्सी नोट 8 में इंडस्ट्री में सबसे आगे रखने वाला F1.7 8 मेगापिक्सल ऑटोफोकस फ्रंट-फेसिंग कैमरा भी है, जिससे शार्प सेल्फी और वीडियो चैट्स की जा सकती हैं। इसका ब्राइट लेंस कम रोशनी में भी बेहतरीन फोटो लेता है, जबकि स्मार्ट ऑटो फ़ोकस शॉट में चेहरों को ट्रैक करने का काम करता है।

 

 

 

 

सैमसंग के बेस्ट-इन-क्लास डुअल कैमरा में, दोनों लेंस पर डुअल OIS जोड़कर, साथ ही नए लाइव फोकस और डुअल कैप्चर फीचर्स के साथ, गैलेक्सी नोट8 को एक बेहद ही बेहतरीन डिवाइस बनाया है, जिससे ब्राइट, क्लियर फोटो ली जा सकती हैं और खास लम्हों को ऐसे कैद किया जा सकता है कि यूज़र्स उन्हें यादगार बना सकें।

ग्राहक सेवा से संबंधित शिकायतों के लिए, samsung.com/in/support पर जाएं।
मीडिया से जुड़ी जानकारी के लिए, कृपया संपर्क करें corpcommindia@samsung.com

Sitemap

Top